Blogs Home / Blogs / भारत में तांत्रिक साधनाएं
  • परकाया प्रवेश की वैज्ञानिकता और उसके पौराणिक संदर्भ

     16.10.2018
    परकाया प्रवेश की वैज्ञानिकता और उसके पौराणिक संदर्भ

    परकाया प्रवेश की वैज्ञानिकता और उसके पौराणिक संदर्भ


    परकाया प्रवेश को प्रायः अस्वाभाविक घटना समझा जाता है किंतु यह प्राणियों का स्वाभाविक धर्म है। परकाया प्रवेश का अर्थ है एक देह को छोड़कर दूसरी देह में

    Read More
  • क्या भगवान शंकराचार्य ने परकाया प्रवेश किया था? क्या यह संभव है?

     16.10.2018
    क्या भगवान शंकराचार्य ने परकाया प्रवेश किया था? क्या यह संभव है?

     क्या भगवान शंकराचार्य ने परकाया प्रवेश किया था? क्या यह संभव है?


    भारतीय जनमानस में यह प्रबल धारणा है कि आदि जगद्गुरु भगवान शंकराचार्य ने परकाया प्रवेश किया था।

    क्या परकाया प्रवेश संभव है?

    क्

    Read More
  • तंत्र साधना की सफलता के बड़े रहस्य भाग-1

     22.10.2018
    तंत्र साधना की सफलता के बड़े रहस्य भाग-1

    तंत्र साधनाएं प्रायः सफल नहीं होतीं। कुछ किताबें पढ़कर अथवा तांत्रिक जैसे दिखने वाले कुछ लोगों की बातों में आकर बहुत से लोग तंत्र साधनाओं की तरफ आकृष्ट होते हैं। कुछ महीनों की साधना के बाद साधक तंत्र से निराश होकर उसे ढोंग, पाखण्ड और झूठ मान लेते हैं किंतु तंत्र झूठ नहीं है, सत्य है

    Read More
  • तंत्र साधना के तीन बड़े रहस्य, भाग-2

     27.10.2018
     तंत्र साधना के तीन बड़े रहस्य, भाग-2

    पिछले आलेख में हमने पढ़ा कि स्थूल एवं दृश्य जगत् की उत्पत्ति के पीछे सूक्ष्म शक्तियों ने किस प्रकार अपनी भूमिकाएं निभाईं तथा किस प्रकार ऊर्जा का एक अनंत स्रोत महाशून्य में बने विकराल दबाव के कारण भयानक विस्फोट को प्राप्त होकर विकास करता हुआ स्थूल जगत् के रूप में

    Read More
  • तंत्र साधना के तीन बड़े रहस्य, भाग-3

     27.10.2018
    तंत्र साधना के तीन बड़े रहस्य, भाग-3

    पिछले आलेख में हमने महाविस्फोट की घटना के बाद सूक्ष्म जगत के उत्पन्न होने की घटना पर चर्चा की तथा माया द्वारा ईश्वरीय अंश से जीव उत्पन्न करने की प्रक्रिया को भी जानने का प्रयास किया। साथ ही आत्मा, बुद्धि और मन को एक ब्रह्माण्डीय मस्तिष्क में रखे जाने पर भी चर्चा की।

    इस आलेख मे

    Read More
  • तंत्र साधना के तीन बड़े रहस्य, भाग- 4

     27.10.2018
    तंत्र साधना के तीन बड़े रहस्य, भाग- 4

    पिछले तीन आलेखों में हमने चर्चा की कि ईश्वर परम प्रकाशवान अस्तित्व है, वह परम चैतन्य, परम ज्ञानवान तथा परम शक्तिशाली है। उसी ने माया को उत्पन्न किया है और माया ने ईश्वरीय अंश को अर्थात् आत्मा को जकड़कर उसे अंधकार में डाला है। माया के जोर से जीवात्मा बना हुआ ईश्वरीय अंश, अपने वास्तवि

    Read More
  • तंत्र साधना के तीन बड़े रहस्य, भाग-5

     27.10.2018
    तंत्र साधना के तीन बड़े रहस्य, भाग-5

    अपने पिछले चार आलेखों में हम चर्चा कर चुके हैं कि हम एक महाशून्य से उत्पन्न हुए हैं। प्रत्येक जड़ एवं चेतन अस्तित्व, एक महाशून्य से अपनी यात्रा आरम्भ करके यहां तक पहुंचा है और उसकी आगे की यात्रा निरंतर जारी है।

    इस आलेख में हमें यह जानना है कि हमारा अंतिम लक्ष्य क्या है! हमें यह ज

    Read More
  • तंत्र साधना के तीन बड़े रहस्य, भाग-6

     27.10.2018
    तंत्र साधना के तीन बड़े रहस्य, भाग-6

    अंतिम भाग

    अपने पिछले पिछले पांच आलेखों में हमने पढ़ा कि किस प्रकार ईश्वरीय प्रेरणा से महाशून्य में विस्फोट हुआ और उससे निकली ऊर्जा से सूक्ष्म एवं स्थूल जगत् की उत्पत्ति हुई तथा किस प्रकार ब

    Read More
Categories
SIGN IN
Or sign in with
 
×
Forgot Password
×
SIGN UP
Already a user ?
×