Blogs Home / Blogs / राजस्थान ज्ञान कोष प्रश्नोत्तरी लेखक - डॉ. मोहन लाल गुप्ता / राजस्थान ज्ञानकोश प्रश्नोत्तरी : राजस्थान के पशु मेले
  • राजस्थान ज्ञानकोश प्रश्नोत्तरी : राजस्थान के पशु मेले

     08.12.2021
    राजस्थान ज्ञानकोश प्रश्नोत्तरी : राजस्थान के पशु मेले

    राजस्थान ज्ञानकोश प्रश्नोत्तरी - 71

    राजस्थान ज्ञानकोश प्रश्नोत्तरी : राजस्थान के पशु मेले पशु मेले

    राजस्थान की अर्थव्यवस्था का प्रमुख आधार हैं। इनके माध्यम से देश के दूरस्थ प्रांतों से भी कृषक एवं पशुपालक राजस्थान के पशुओं को क्रय करके अपने राज्यों में ले जाते हैं। अधिकतर पशुमेलों का आयोजन धार्मिक स्थलों, ऐतिहासिक सरोवरों के निकट होता है। अधिकतर मेलों का सम्बन्ध लोकदेवताओं, स्थानीय वीरों एवं विख्यात राजाओं से है।

    1. प्रश्नः राजस्थान में प्रतिवर्ष कितने पशु मेले लगते हैं?

    उत्तरः 250 से अधिक।

    2. प्रश्नः राज्य सरकार द्वारा कितने पशु मेलों को राज्य स्तरीय पशु मेलों में सम्मिलित किया गया है?

    उत्तरः 12 पशु मेलों को।

    3. प्रश्नः राज्य के पांच प्रमुख पशु मेले कौनसे हैं?

    उत्तरः श्रीरामदेव पशु मेला नागौर, श्री बलदेव पशु मेला मेड़तासिटी, गोगामेड़ी पशु मेला गोगामेड़ी, पुष्कर पशु मेला पुष्कर तथा मल्लीनाथ पशु मेला तिलवाड़ा।

    4. प्रश्नः पशुपालकों को आय की दृष्टि से राज्य का सबसे बड़ा पशु मेला कौनसा है?

    उत्तरः श्री वीर तेजाजी पशु मेला, परबतसर।

    5. प्रश्नः किस जिले में सर्वाधिक राज्य स्तरीय पशु मेले लगते हैं?

    उत्तरः नागौर जिले में सर्वाधिक तीन पशु मेले लगते हैं।

    6. प्रश्नः नागौर जिले में लगने वाले पशु मेलों में सर्वाधिक किस पशु की बिक्री होती है?

    उत्तरः नागौरी नस्ल के बैल।

    7. प्रश्नः नागौरी नस्ल के बैलों की इतनी मांग क्यों है?

    उत्तरः पूर्वी उत्तर प्रदेश एवं बिहार आदि राज्यों में कृषिजोत काफी छोटी होने से उनमें टैक्टर आदि मशीनें नहीं चलतीं। वहाँ नागौरी बैलों से खेती की जाती है।

    8. प्रश्नः श्रीरामदेव पशु मेला कहाँ एवं कबसे संचालित हो रहा है?

    उत्तरः यह मेला प्रति वर्ष नागौर कस्बे से लगे हुए मानासर गाँव में माघ माह में भरता है। फरवरी 1958 से इस मेले का संचालन पशुपालन विभाग कर रहा है।

    9. प्रश्नः श्री बलदेव पशु मेला, मेड़तासिटी किसकी स्मृति में आयेाजित होता है?

    उत्तरः किसान नेता बलदेवराम मिर्धा की स्मृति में।

    10. प्रश्नः श्रीबलदेव पशु मेला कब आयोजित होता है?

    उत्तरः चैत्र सुदी 1 से चैत्र सुदी 15 तक मेड़तासिटी में।

    11. प्रश्नः श्री वीर तेजाजी पशु मेला, परबतसर कब एवं कहाँ आयोजित होता है?

    उत्तरः यह पशु मेला लोक देवता वीर तेजाजी की स्मृति में श्रावण मास की पूर्णिमा से भाद्रपद की अमावस्या तक लगता है। पशु पालन विभाग ने इस मेले की बागडोर सन 1957 में संभाली।

    12. प्रश्नः श्री वीरतेजाजी पशु मेला, परबतसर किसने एवं कब आरम्भ किया था?

    उत्तरः जोधपुर महाराजा विजयसिंह के समय परबतसर के हाकिम भण्डारी विजयसिंह ने अठाहरवीं शताब्दी में।

    13. प्रश्नः श्रीकार्तिक पशु मेला कहाँ लगता है?

    उत्तरः पुष्कर (अजमेर जिला)।

    14. प्रश्नः श्रीकार्तिक पशु मेला पुष्कर किस पशु की बिक्री के लिये प्रसिद्ध है?

    उत्तरः ऊँटों की।

    15. प्रश्नः राज्य के किस मेले में सर्वाधिक संख्या में विदेशी पर्यटक आते हैं?

    उत्तरः पुष्कर मेला।

    16. प्रश्नः भावगढ़ बंध्या में प्रतिवर्ष किन पशुओं का मेला लगता है?

    उत्तरः जयपुर जिले की सांगानेर पंचायत समिति के भावगढ़ बंध्या में प्रतिवर्ष गधों, खच्चरों एवं घोड़ों का मेला भरता है।

    17. प्रश्नः मल्लीनाथ पशु मेला, तिलवाड़ा किस नदी के किनारे लगता है?

    उत्तरः लूणी नदी के किनारे, बाड़मेर जिले के बालोतरा कस्बे के पास तिलवाड़ा में।

    18. प्रश्नः मल्लीनाथ पशु मेला, तिलवाड़ा में कौनसे पशु अधिक बिकते हैं?

    उत्तरः थारपारकर एवं कांकरेज नस्ल की गायें तथा मालानी नस्ल के घोड़े।

    19. प्रश्नः सांचोरी नस्ल के पशु किन मेलों में अधिक बिकते हैं?

    उत्तरः जालोर जिले के रानीवाड़ा कस्बे एवं सांचोर कस्बे में प्रतिवर्ष लगने वाले पशु मेलों में।

    20. प्रश्नः राज्य सरकार मेलों में पशुपालकों को कौनसी सुविधाएं उपलब्ध करवाती है?

    उत्तरः पानी, बिजली, आवास, सुरक्षा, पशु चिकित्सा, टीकाकरण, मानव चिकित्सा आदि।

    21. प्रश्नः अधिकतर मेले किसके नाम पर लगते हैं?

    उत्तरः लोक देवताओं, वीर पुरुषांे एवं विख्यात व्यक्तियों के नाम।

    22. प्रश्न - राज्य स्तरीय पशु मेले कौनसे हैं एवं किन जिलों में लगते हैं?

    उत्तर - नागौर जिले में तीन पशु मेले (श्री रामदेव पशु मेला नागौर, श्रीबलदेव पशु मेला मेड़ता सिटी एवं श्री वीर तेजाजी पशु मेला परबतसर), झालवाड़ जिले में दो (श्री गोमती सागर पशु मेला झालरापाटन तथा श्री चंद्रभागा पशु मेला झालरापाटन), हनुमानगढ़ जिले में एक (श्री गोगामेड़ी पशु मेला गोगामेड़ी), भरतपुर जिले में एक (श्रीजसवंत प्रदर्शनी एवं पशु मेला भरतपुर), अजमेर जिले में एक (श्री कार्तिक पशु मेला पुष्कर), करौली जिले में एक (श्री महाशिवरात्रि पशु मेला करौली), बाड़मेर जिले में एक (श्री मल्लीनाथ पशु मेला तिलवाड़ा), अलवर जिले में एक (बहरोड़ पशु मेला) तथा चित्तौड़गढ़ जिले में एक (चित्तौड़गढ़ पशु मेला)।

    इस विषय पर विभिन्न परीक्षाओं में पूछे गए

    प्रश्न1 आर.ए.एस. प्रारंभिक परीक्षा 2010, राजस्थान में राज्य स्तरीय पशु मेले सबसे ज्यादा जिस जिले में भरते हैं, वह है- (अ.) झालावाड़ (ब.) नागौर (स.) बाड़मेर (द.) हनुमानगढ़ ?

    2 आर.ए.एस. मुख्य परीक्षा वर्ष 2000, सामान्य ज्ञान, 50 शब्दों में लिखिये- नागौर का पशु मेला।

    3 आर.ए.एस. मुख्य परीक्षा वर्ष 1999, निम्न के बारे में आप क्या जानते हैं, राजस्थान के पशु मेले?

    4 आर.ए.एस. मुख्य परीक्षा 1999, राजस्थान के किस जिले में राज्य सरकार सर्वाधिक पशुमेलों का आयोजन करती है?

    5 आर.ए.एस. मुख्य परीक्षा वर्ष 1996, राजस्थान के चार प्रमुख पशु मेलों के नाम तथा आयोजन स्थल बताइये।

    6 आर.ए.एस. मुख्य परीक्षा वर्ष 1994, उन दो स्थानों का नाम दीजिये जहाँ पशु मेलों में नागौरी बैलों का व्यापार होता है।


  • Share On Social Media:
Categories
SIGN IN
Or sign in with
×
Forgot Password
×
SIGN UP
Already a user ?
×