Blogs Home / Blogs / समाचार / आप भी करवा सकते हैं अपनी ई-बुक का प्रकाशन
  • आप भी करवा सकते हैं अपनी ई-बुक का प्रकाशन

     03.06.2020
    आप भी करवा सकते हैं अपनी ई-बुक का प्रकाशन

    हमारी नई वैबसाइट - भारत का इतिहास - www.bharatkaitihas.com

    • यदि आप हिन्दी, अंग्रेजी अथवा राजस्थानी भाषा के सफल लेखक, साहित्यकार, कॉलम राइटर अथवा पत्रकार हैं!

    • यदि आपका अपना एक पाठक वर्ग उपलब्ध है!

    • यदि आप अपनी पुस्तक ई-बुक के रूप में गूगल एप तथा ई-कॉमर्स वैबसाइट पर प्रकाशित करवाना चाहते हैं!

    • राजस्थान हिस्ट्री वैबसाइट आपके लिये यह कार्य निःशुल्क कर सकता है।

    • ये पुस्तकें दुनिया भर के उन समस्त देशों में एण्ड्रोइड मोबाइल फोन/टैब पर पढ़ी जा सकती हैं जहां-जहां गूगल की पहुंच है।

    • कृपया अपनी पुस्तकों की कम्पयूटर पर टाइप की हुई सॉफ्ट कॉपी हमें उपलब्ध करायें। सॉफ्ट कॉपी वर्ड फाइल में तथा कृतिदेव/यूनिकोड/टाइम्स न्यू रोमन फॉण्ट में होनी चाहिये।

    • हम अपकी वर्ड फाइल से विश्व की आधुनिकतम तकनीक द्वारा ई-बुक तैयार करायेंगे तथा राजस्थान हिस्ट्री गूगल एप पर उपलब्ध करायेंगे जिसका व्यय हमारी वैबसाइट द्वारा वहन किया जायेगा।

    • वैब साइट तथा गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध कराई गई ई-बुक्स को राजस्थान हिस्ट्री वैबसाइट तथा गूगल प्ले स्टोर से आम पाठक द्वारा खरीदा जा सकेगा।

    • पुस्तकों की बिक्री से प्राप्त विक्रय मूल्य का पचास प्रतिशत लेखक को रॉयल्टी के रूप में दिया जायेगा।

    • आपकी पुस्तक कितनी संख्या में बिकी है, इसकी जानकारी आपको वैसासाईट तथा गूगल एप पर आपकी पुस्तक की डाउनलोड संख्या से घर बैठे प्राप्त हो सकेगी।

    • पुस्तक जनोपयोगी होनी चाहिये। प्रकाशित की जाने वाली पुस्तक के चयन का अधिकार शुभदा प्रकाशन के पास सुरक्षित रहेगा।

    • लेखक द्वारा यह लिखित में दिया जायेगा कि पुस्तक का कॉपीराइट लेखक के पास है, किसी अन्य के पास नहीं है। • वैबसाइट पर प्रकाशित पुस्तक के कॉपीराइट पर शुभदा प्रकाशन का कोई अधिकार नहीं होगा।

    • लेखक किसी भी समय अपनी पुस्तक को वैबसाइट तथा गूगल एप से हटाने के लिये ई-मेल अथवा पत्र के माध्यम से सूचित कर सकेगा।

    • पुस्तक का मूल्य एवं उस मूल्य पर दी जाने वाली छूट लेखक द्वारा तय की जायेगी। लेखक अपनी पुस्तक का मूल्य किसी भी समय बदलवा सकेगा।

    • पुस्तक में दी गई सामग्री की विश्वसनीयता की समस्त जिम्मेदारी लेखक की होगी। लेखक यह सुनिश्चित करेगा कि पुस्तक में किसी प्रकार की विद्वेष फैलाने वाली, विधि विरुद्ध, भड़काऊ एवं राष्ट्रद्रोही सामग्री नहीं है।

    • पुस्तक की बिक्री के बारे में कोई गारण्टी नहीं दी जा सकेगी।

    • पुस्तक मुद्रण से पहले शुभदा प्रकाशन तथा पुस्तक के लेखक के बीच एक एग्रीमेंट किया जाना अनिवार्य होगा।

    • कृपया अपना प्रस्ताव भिजवाने से पहले हमारी वैबसाइट www.rajasthanhistory.com अवश्य विजिट करें तथा अपने एण्ड्रोयड फोन या टैब पर गूगल प्ले स्टोर से rajasthan history free App डाउनलोड करके वहां उपलब्ध फ्री ई-बुक्स का अवलोकन करें। इससे आपको अपनी पुस्तक तैयार करने में आसानी होगी।

    • आप हमारी वैबसाइट के होमपेज पर उपलब्ध "अपलोड बुक" ऑप्शन के माध्यम से अपना प्रस्ताव दे सकते हैं।

    - डॉ. मोहनलाल गुप्ता

    9404076061

    हमारी नई वैबसाइट - भारत का इतिहास - www.bharatkaitihas.com


  • Share On Social Media:
Categories
SIGN IN
Or sign in with
×
Forgot Password
×
SIGN UP
Already a user ?
×