Blogs Home / Blogs / राजस्थान के प्रमुख संग्रहालय / अध्याय - 66 राजस्थान के विज्ञान केन्द्र एवं संग्रहालय
  • अध्याय - 66 राजस्थान के विज्ञान केन्द्र एवं संग्रहालय

     21.12.2018
    अध्याय - 66 राजस्थान के विज्ञान केन्द्र एवं संग्रहालय

    अध्याय - 66


    राजस्थान के विज्ञान केन्द्र एवं संग्रहालय

    भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय के अधीन कार्यरत राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद द्वारा देश में क्षेत्रीय विज्ञान केन्द्र, उपविज्ञान केन्द्र, साइंस पार्क आदि स्थापित किए गए हैं जो व्यवहार रूप में विज्ञान के सिद्धांतों एवं उपलब्धियों पर आधारित संग्रहालय ही हैं। ये संग्रहालय जनसामान्य तथा विज्ञान के विद्यार्थियों का मनोरंजन करने के साथ-साथ उन्हें विज्ञान के सिद्धांतों, नियमों एवं उपलब्धियों आदि की जानकारी देते हैं तथा जन-साधारण को विज्ञान के निकट लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

    क्षेत्रीय विज्ञान केन्द्र, जयपुर

    क्षेत्रीय विज्ञान केन्द्र, जयपुर को राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद द्वारा स्थापित किया गया है। राजस्थान सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा इस संस्था को सक्रिय सहयोग दिया जाता है। यह केन्द्र, इंटरेक्टिव विज्ञान प्रदर्शनियों और अनौपचारिक विज्ञान शिक्षा कार्यक्रमों के माध्यम से क्षेत्र के लोगों की आवश्यकताएं पूरी करता है। लगभग 4000 वर्ग मीटर क्षेत्र में निर्मित विज्ञान केन्द्र में तीन प्रदर्शनी दीर्घाएं, एक अस्थायी प्रदर्शनी हॉल, एक गुंबद तारामंडल, विज्ञान प्रदर्शन क्षेत्र, वातानुकूलित सभागार, थ्री-डी थिएटर, एक पुस्तकालय, सम्मेलन कक्ष और सार्वजनिक सुविधाएं उपलब्ध हैं।

    खगोल विज्ञान फ्रंटियर्स गैलरी में दर्शाया गया है कि ब्रह्माण्ड की मानवीय समझ समय के साथ बदल गई है क्योंकि ब्रह्माण्ड की बेहतर समझ के लिए मानव जाति ने विज्ञान और प्रौद्योगिकी के विभिन्न सिद्धांतों को समझना और उनका उपयोग करना जारी रखा है। इस गैलरी से पता चलता है कि भारत, खगोल विज्ञान के क्षेत्र में विश्व में अग्रणी भूमिका रखता है। खगोल विज्ञान गैलरी में आगंतुकों को सबसे अधिक दिलचस्प सवालों का सामना करना पड़ता है। इंटरेक्टिव प्रदर्शन, कलाकृतियों, मल्टीमीडिया और अन्य दृश्य-प्रदर्शन के माध्यम से ब्रह्मांड के प्रति समझ विकसित करने के लिए अनूठा वातावरण तैयार किया गया है।

    राजस्थान के अन्य उप-क्षेत्रीय विज्ञान केन्द्र

    विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग ने जोधपुर, झालावाड़, नवलगढ़, कोटा, उदयपुर में उपक्षेत्रीय विज्ञान केन्द्र स्थापित किए हैं। उप-क्षेत्रीय विज्ञान केन्द्र, जोधपुर का उदघाटन 17 अगस्त 2013 को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एवं भारत सरकार की संस्कृति मंत्री चंद्रेश कुमारी कटोच द्वारा किया गया। इस केन्द्र की अवधारणा, डिज़ाइन एवं विकास राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद द्वारा किया गया है एवं इसे संचालन के लिए राजस्थान सरकार को समर्पित किया गया है। इस केन्द्र में 'जल: जीवन का अमृत', 'भारत की विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी की विरासत', 'मनोरंजक विज्ञान' नामक दीर्घाएँ एवं एक विज्ञान पार्क बनाया गया है।

    झालावाड़ नगर से संलग्न झालरापाटन नामक प्राचीन नगर में पुलिस लाइन रोड पर होर्टिचल्चर कॉलेज के सामने विज्ञान पार्क स्थापित किया गया है। इस विज्ञान पार्क में बच्चों के लिए आईटी गैलेरी का निर्माण किया गया है जिसके माध्यम से बच्चों को कम्प्यूटर की शुरुआत से लेकर आज तक की यात्रा का ज्ञान उपलब्ध कराया जाता है। बच्चों के लिए थ्री-डी गेम्स भी उपलब्ध कराए गए हैं।

  • अध्याय - 66

    <"/> अध्याय - 66

    <"> अध्याय - 66

    <">
    Share On Social Media:
Categories
SIGN IN
Or sign in with
 
×
Forgot Password
×
SIGN UP
Already a user ?
×