Blogs Home / Blogs / राजस्थान के प्रमुख संग्रहालय / अध्याय - 58 प्राचीना संग्रहालय बीकानेर
  • अध्याय - 58 प्राचीना संग्रहालय बीकानेर

     02.06.2020
    अध्याय - 58 प्राचीना संग्रहालय बीकानेर

     अध्याय - 58

    प्राचीना संग्रहालय बीकानेर

    हमारी नई वैबसाइट - भारत का इतिहास - www.bharatkaitihas.com

    'प्राचीना' संग्रहालय बीकानेर की स्थापना बीकानेर की राजकुमारी ने सिद्धि कुमारी ने ई.2000 में जूनागढ़ परिसर में की। इस संग्रहालय की स्थापना बीकानेर की कलाओं के इतिहास को संजोने एवं दर्शकों तक पहुंचाने के उद्देश्य से की गई। कला और शिल्प में रुचि रखने वालों के लिए यह संग्रहालय बहुत महत्वपूर्ण है। विभिन्न स्थलों से आने वाले कलाकार यहाँ आकर अपनी कला और कौशल का प्रदर्शन करते हैं। प्राचीना संग्रहालय में ऐसी कई वस्तुएं हैं जो इस देश की प्राचीन परंपराओं की याद दिलाती हैं।

    प्राचीन संग्रहालय में प्रदर्शित वस्तुओं में शाही दौर में पहने जाने वाले परिधान सबसे लोकप्रिय हैं। संग्रहालय की अन्य कीमती संपत्ति में कई सजावटी सामान और यूरोपीय स्टाइल के कट ग्लास, वाइन ग्लास, क्रॉकरी और कटलरी हैं। लकड़ी से बना कुछ फर्नीचर भी प्रदर्शित किया गया है। इस फर्नीचर में लकड़ी पर बहुत बारीक डिजाइन की नक्काशी की गई है। दर्शकों को भारत की हस्तकलाओं का परिचय देने वाले कुछ कंबल और कालीन भी प्रदर्शित किए गए हैं। इस संग्रहालय में प्रदर्शित कुछ चित्र भी विशेष आकर्षणों में से हैं।

    हमारी नई वैबसाइट - भारत का इतिहास - www.bharatkaitihas.com

  •  अध्याय - 58  अध्याय - 58  अध्याय - 58
    Share On Social Media:
Categories
x
SIGN IN
Or sign in with
×
Forgot Password
×
SIGN UP
Already a user ?
×