Blogs Home / Blogs / राजस्थान के प्रमुख संग्रहालय / अध्याय - 5 राज्य में सरकारी क्षेत्र के प्रमुख संग्रहालय एवं अभिलेखागार
  • अध्याय - 5 राज्य में सरकारी क्षेत्र के प्रमुख संग्रहालय एवं अभिलेखागार

     02.06.2020
    अध्याय - 5 राज्य में सरकारी क्षेत्र के प्रमुख संग्रहालय एवं अभिलेखागार

    अध्याय - 5 राज्य में सरकारी क्षेत्र के प्रमुख संग्रहालय एवं अभिलेखागार


    पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग द्वारा संचालित संग्रहालय


    हमारी नई वैबसाइट - भारत का इतिहास - www.bharatkaitihas.com

    राजस्थान सरकार द्वारा राज्य में राजकीय संग्रहालयों की स्थापना, सरंक्षण एवं विस्तार के लिए अलग से पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग की स्थापना की गई है। इस विभाग द्वारा वर्तमान में निम्नलिखित संग्रहालय संचालित किए जा रहे हैं-

    राज्य स्तरीय संग्रहालय

    1. राजकीय केन्द्रीय संग्रहालय, अलबर्ट हॉल, (अल्बर्ट म्यूजियम), जयपुर

    संभाग स्तरीय संग्रहालय

    1. राजकीय संग्रहालय, उदयपुर,

    2. राजकीय संग्रहालय, जोधपुर,

    3. राजकीय संग्रहालय, बीकानेर,

    4. राजकीय संग्रहालय, कोटा,

    5. राजकीय संग्रहालय, अजमेर,

    6. राजकीय संग्रहालय, हवामहल, जयपुर,

    7. राजकीय संग्रहालय, भरतपुर

    जिला स्तरीय संग्रहालय


    1. राजकीय संग्रहालय, अलवर

    2. राजकीय संग्रहालय, डूंगरपुर

    3. राजकीय संग्रहालय, चित्तौड़गढ़

    4. राजकीय संग्रहालय, जैसलमेर

    5. राजकीय संग्रहालय, पाली

    6. राजकीय संग्रहालय, झालावाड़

    7. राजकीय संग्रहालय, सीकर

    स्थानीय संग्रहालय

    1. राजकीय संग्रहालय, आहाड़, उदयपुर

    2. राजकीय संग्रहालय, मण्डोर, जोधपुर

    3. राजकीय संग्रहालय, माउंट आबू, सिरोही

    संग्रहालय जो आरम्भ किए जाने हैं

    1. राजकीय संग्रहालय, केसरीसिंह बारहठ की हवेली, शाहपुरा, भीलवाड़ा।

    2. टाउन हॉल पुराना विधानसभा भवन, जयपुर।

    3. राजकीय संग्रहालय, बारां।


    राज्य की आर्ट गैलेरी

    1. आर्ट गैलेरी, विराट नगर, जयपुर

    2. प्राच्य विद्या प्रतिष्ठान जोधपुर की आर्ट गैलेरी


    राजस्थान राज्य अभिलेखागार

    राजस्थान राज्य अभिलेखागार का मुख्यालय बीकानेर में स्थापित किया गया है तथा इसकी शाखाएं जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, कोटा, अजमेर, अलवर एवं भरतपुर में हैं।


    प्राच्य विद्या प्रतिष्ठान

    राज्य सरकार द्वारा प्राच्य विद्या प्रतिष्ठानों की स्थापना की गई है जिनमें प्राचीन दुर्लभ हस्तलिखित ग्रंथों, चित्रग्रंथों, बहियों आदि का संग्रहण किया गया है। जोधपुर में इसका मुख्यालय है तथा बीकानेर, कोटा, अलवर, उदयपुर, चित्तौड़ में उपशाखाएं कार्यरत हैं।


    अरबी-फारसी शोध संस्थान टोंक

    टोंक में अरबी और फारसी ग्रंथों के संरक्षण के लिए कार्यालय स्थापित हुआ जो अब स्वतंत्र संस्थान के रूप में कार्यरत है तथा मौलाना अबुल कलाम आजाद अरबी फारसी शोध संस्थान के नाम से जाना जाता है।


    विज्ञान केन्द्र एवं संग्रहालय

    विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग ने राज्य में जयपुर में क्षेत्रीय विज्ञान केन्द्र एवं विज्ञान पार्क स्थापित किया है। साथ ही जोधपुर, नवलगढ़, कोटा, उदयपुर में उपक्षेत्रीय विज्ञान केन्द्र स्थापित किए हैं। झालावाड़ के निकट झालरापाटन में विज्ञान पार्क स्थापित किया गया है। इनमें आम जन को विज्ञान के सिद्धांतों का प्रदर्शन करने के लिए स्वचालित मॉडल प्रदर्शित किये गए हैं।

    प्राकृतिक विज्ञान संग्रहालय

    1. प्राकृतिक विज्ञान संग्रहालय, जयपुर।

    2. प्राकृतिक विज्ञान संग्रहालय, सवाईमाधोपुर।

    प्राकृतिक विज्ञान संग्रहालय, रामसिंहपुरा

    देश का पांचवां राजीव गांधी क्षेत्रीय प्राकृतिक विज्ञान संग्रहालय सवाईमाधोपुर जिले के रामसिंहपुरा गांव में आरम्भ किया गया है। 1 मार्च 2014 को इसे पर्यटकों के लिए खोल दिया गया। इस संग्रहालय में पर्यावरण, वन्यजीव, ज्ञान, विज्ञान, कला एवं संस्कृति आदि से जुड़ी चीजों की पांच गैलेरी, एक लाइब्रेरी, ऑडिटोरियम, छात्रावास आदि बनाये गए हैं।

    बायोलॉजिकल पार्क जयपुर, जोधपुर एवं उदयपुर में बायोलॉजिकल पार्क स्थापित किये गए हैं। बीकानेर जिले में बीछवाल में बायोलॉजिकल पार्क स्थापित किया जा रहा है। यहाँ भी जन्तुओं के सम्बन्ध में जानकारियां पर्यटकों को दी जा रही हैं।


    नेचर पार्क

    वर्ष 2014-15 में चूरू में नेचर पार्क स्थापित किया गया है।

    हमारी नई वैबसाइट - भारत का इतिहास - www.bharatkaitihas.com


  • Share On Social Media:
Categories
SIGN IN
Or sign in with
×
Forgot Password
×
SIGN UP
Already a user ?
×