Blogs Home / Blogs / आधुनिक भारत का इतिहास
  • भारत में यूरोपीय जातियों का आगमन

     06.06.2017
    भारत में यूरोपीय जातियों का आगमन

    आधुनिक भारत का इतिहास - अध्याय: 1



    भारत में यूरोपीय जातियों का आगमन


    सिकंदर के भारत में आने (523 ई.पू.) से भी बहुत पहले, रोम के एक शासक ने कहा था- 'भारतीयों के बागों में मोर, उनके खाने की मेज पर काली मिर्च तथा उनके बदन का रेशम, हमें पागल बना देता है। हम इन चीजों के लिये बर्बाद हुए

    Read More
  • अँग्रेजों के आगमन के समय भारत की राजनीतिक स्थिति

     06.06.2017
    अँग्रेजों के आगमन के समय भारत की राजनीतिक स्थिति

    आधुनिक भारत का इतिहास - अध्याय: 2

    अँग्रेज भारत में समुद्री मार्ग से 1608 ई. में आये। उस समय भारत में मुगल बादशाह जहाँगीर का शासन था। मुगलों की केन्द्रीय सत्ता अत्यंत प्रबल थी। दक्षिण भारत के राज्य मुगलों की सीमा पर स्थित थे। अँग

    Read More
  • अँग्रेजों के आगमन के समय भारत की आर्थिक स्थिति :

     06.06.2017
    अँग्रेजों के आगमन के समय भारत की आर्थिक स्थिति :

    आधुनिक भारत का इतिहास - अध्याय: 3

    अँग्रेजों के आगमन के समय भारत की आर्थिक स्थिति 

    जहाँ एक ओर यूरोपीय इतिहासकारों ने यह सिद्ध करने का प्रयास किया है कि यूरोपीय जातियों ने भारतीयों को सभ्य बनाने के लिये भारत में प्रवेश किया वहीं दूसरी ओर आधुनिक भारतीय इतिहा

    Read More
  • बंगाल में ब्रिटिश प्रभुसत्ता का विस्तार

     06.06.2017
    बंगाल में ब्रिटिश प्रभुसत्ता का विस्तार

    आधुनिक भारत का इतिहास - अध्याय - 4

    ईस्ट इण्डिया कम्पनी की स्थापना तथा भारत में प्रवेश

    1600 ई. में ब्रिटेन के कुछ व्यापारियों ने पूर्वी देशों में व्यापार करने के लिए ईस्ट इण्डिया कम्पनी स्थापित की। ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ (1558-1603 ई.) इस कम्पनी की हिस्सेदा

    Read More
  • आंग्ल मराठा युद्ध और मराठों का पतन

     04.04.2017
    आंग्ल मराठा युद्ध और मराठों का पतन

    आधुनिक भारत का इतिहास - अध्याय - 5

    छत्रपति शिवाजी (1646-1680 ई.) ने मराठा शक्ति को संगठित करने का काम किया। औरंगजेब जैसा शक्तिशाली मुगल बादशाह भी मराठा शक्ति का दमन नहीं कर सका। छत्रपति शाहू के शासन काल में पेशवाओं के नेतृत्व में मराठों ने उत्तर भारत में अपना वर्चस्व स्था

    Read More
  • भारत में ब्रिटिश शासन की स्थापना और विस्तार

     06.06.2017
    भारत में ब्रिटिश शासन की स्थापना और विस्तार

    आधुनिक भारत का इतिहास - अध्याय: 6

    भारत में ब्रिटिश शासन की स्थापना  के कारण

    भारत में ब्रिटिश साम्राज्य की स्थापना और विस्तार के वास्तविक कारणों के विषय में इतिहासकारों में पर्याप्त मतभेद हैं। कुछ इतिहासकारों का मानना

    Read More
  • ब्रिटिश भारत में जमींदारी, रैय्यतवाड़ी और महलवाड़ी व्यवस्थाएँ

     06.06.2017
    ब्रिटिश भारत में जमींदारी, रैय्यतवाड़ी और महलवाड़ी व्यवस्थाएँ

    आधुनिक भारत का इतिहास - अध्याय: 7



    भारत में भू-राजस्व व्यवस्था की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि

    भारत में वैदिक काल से ही राजा को प्रजा से भोग प्राप्त करने का अधिकार था। भोग, किसी भी प्रकार के उत्पादन का प्रायः छठा अंश होता था जो प्रजा से राजन्य को मिलता था और र

    Read More
  • ब्रिटिश शासन में कृषि का वाणिज्यीकरण और उसका प्रभाव

     06.06.2017
    ब्रिटिश शासन में कृषि का वाणिज्यीकरण और उसका प्रभाव

    आधुनिक भारत का इतिहास - अध्याय: 8


    ब्रिटिश शासन में कृषि का वाणिज्यीकरण और उसका प्रभाव

    ब्रिटिश सरकार की भू-राजस्व कर नीति ने भारत में, न केवल जमींदार एवं भूमिहीन किसान जै

    Read More
  • ब्रिटिश शासन में भारत से धन का निष्कासन

     06.06.2017
    ब्रिटिश शासन में  भारत से धन का निष्कासन

    आधुनिक भारत का इतिहास - अध्याय: 9

    भारत पर पाश्चात्य देशों के आक्रमण तो सिकंदर से पूर्व भी होते रहे किंतु उनके प्रभाव सीमित होने के कारण उनमें भारत से धन का विशेष निष्कासन नहीं हुआ। सिकंदर एवं उसके बाद के पाश्चात्य

    Read More
  • ब्रिटिश शासन में कुटीर उद्योगों का पतन

     10.04.2017
    ब्रिटिश शासन में कुटीर उद्योगों का पतन

    आधुनिक भारत का इतिहास - अध्याय: 10

    अँग्रेजों के भारत आगमन के समय भारतीय कुटीर उद्योग 

    Read More
SIGN IN
Or sign in with
 
×
Forgot Password
×
SIGN UP
Already a user ?
×