Blogs Home / Blogs / अजमेर नगर का इतिहास - पुस्तक / अजमेर का इतिहास - 88
  • अजमेर का इतिहास - 88

     02.06.2020
    अजमेर का इतिहास - 88

    राजस्थान राज्य अभिलेखागार में संग्रहीत अजमेर सम्बन्धी अभिलेख


    हमारी नई वैबसाइट - भारत का इतिहास - www.bharatkaitihas.com

    राजस्थान राज्य अभिलेखागार बीकानेर में ई.1818 से 1956 तक के अभिलेख संग्रहीत हैं। ये अभिलेख अंग्रेजी भाषा (रोमन लिपि) तथा उर्दू भाषा (अरबी लिपि) में हैं। ये अभिलेख दौलतराव सिंधिया द्वारा अजमेर का शासनाधिकार ईस्ट इण्डिया कम्पनी को सौंपने से प्रारंभ होते हैं।

    कमिश्नर अभिलेख

    अजमेर में प्रशासनिक एवं न्यायिक कार्यों के लिये ई.1818 में सुपरिण्टेण्डेण्ट का पद सृजित किया गया था। ई.1853 में सुपरिण्टेण्डेण्ट के स्थान पर कमिश्नर (अजमेर-मेरवाड़ा), ई.1857 में डिप्टी कमिश्नर (अजमेर) तथा ई.1871 में पुनः कमिश्नर (अजमेर-मेरवाड़ा) का पद सृजित किया गया। इस अधिकारी को प्रशासनिक एवं न्यायिक अधिकार प्राप्त थे। उसके अधीन इस्तेमरारदारी, जागीर तथा भूमि विभाग काम करते थे। इन अभिलेखों का आरंभ ई.1818 से आरंभ होता है। इस खण्ड में अजमेर-मेरवाड़ा प्रांत के समस्त गांवों एवं परगनों के जागीरदारों, भूमियों के उत्तराधिकार सम्बन्धी विवादों, सनदें, नजराने, भूमि सर्वेक्षण एवं बंदोबस्त आदि के अभिलेख उपलब्ध हैं।

    सुरक्षा अभिलेख

    इस खण्ड में अजमेर-मेरवाड़ा प्रांत की शांति एवं कानून व्यवस्था, पुलिस, स्वायत्त शासन संस्थायें, अजमेर एवं केकड़ी नगरपालिकाओं द्वारा नगरीय क्षेत्र में सफाई व्यवस्था, कर वसूली तथा छावनी सम्बन्धी अभिलेख उपलब्ध हैं।

    उत्पादन एवं वितरण

    इस खण्ड में अजमेर प्रांत के कृषि, व्यापार, खान, भवन निर्माण, पोस्ट एण्ड टेलिग्राफ, सिंचाई तथा वन आदि विभागों से सम्बन्धित अभिलेख संग्रहीत हैं।

    राजस्व एवं वित्त

    राज्य के आबकारी, आयकर, पेंशन, इम्पीरियल राजस्व, वित्त, ऋण, मुद्राकोष, नमक, क्षति पूर्ति, संधियों के भुगतान, डिस्ट्रिक्ट एण्ड लोकल फण्ड्स आदि विषयों से सम्बन्धित अभिलेख सुरक्षित हैं।

    चिकित्सा एवं स्वास्थ्य

    इस खण्ड में अजमेर-मेरवाड़ा प्रांत में स्वास्थ्य सम्बन्धी व्यवस्थाओं के लिये चिकित्सालय, टीकाकरण, पशु चिकित्सा सम्बन्धी अभिलेख संग्रहीत हैं।

    शिक्षण एवं जन संस्थायें

    इस खण्ड में शिक्षण संस्थाओं की स्थापना एवं व्यवस्था तथा प्रकाशन आदि के विवरण उपलब्ध हैं।

    सामान्य प्रशासन

    इस खण्ड में पुरातत्त्व, ऐतिहासिक, ब्रिटिश स्मारक, प्रकाशन, चर्च के निर्माण एवं जीर्णोद्धार, मेले, सेरीमोनियल, महत्त्वपूर्ण व्यक्तियों के भ्रमण सम्बन्धी अभिलेख उपलब्ध हैं।

    वर्नाक्यूलर अभिलेख

    ये अभिलेख उर्दू भाषा में हैं। इन अभिलेखों में ई.1818 से 1900 तक के भूमि एवं भूमि बंदोबस्त के अभिलेख संग्रहीत हैं। ई.1820 में मि. विल्डर द्वारा अजमेर का पहला रेवेन्यू बंदोबस्त किया गया। ई.1822 में मि. विल्डर द्वारा अजमेर का दूसरा सैटलमेंट किया गया। ई.1827 में मि. मिडल्टन ने अजमेर का तीसरा रेवेन्यू सैटलमेंट किया। कर्नल डिक्सन द्वारा ई.1850 में 21 वर्षीय बंदोबस्त किया गया। ला टाउच द्वारा ई.1875 में 20 वर्षीय बंदोबस्त तथा मि. व्हाइट वे द्वारा ई.1886 में 20 वर्षीय बंदोबस्त किया गया।

    रजिस्ट्रेशन

    इन अभिलेखों में ई.1865 से 1900 तक, भूमि के क्रय-विक्रय पंजीकरण के अभिलेख सुरक्षित हैं। इनमें मोरगेज, सेलडीड तथा प्रोपर्टी सम्बधी अभिलेख सम्मिलित हैं।

    दरगाह फाइल्स

    इस खण्ड में मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह की व्यवस्था, गद्दी नशीनी, दीवान, दरगाह खादिम, विभिन्न कर्मचारी, परम्परागत अधिकार, दरगाह की आय-व्यय, दरगाह के अधीन गांवों की आय, उर्स मेले की व्यवस्था आदि से सम्बन्धित अभिलेख हैं।

    चीफ कमिश्नर रिकॉर्ड्स

    15 जून 1870 को अजमेर के एजीजी को चीफ कमिश्नर (अजमेर-मेरवाड़ा) बनाया गया। इससे पूर्व एजीजी को कमिश्नर (अजमेर-मेरवाड़ा) कहते थे। इस खण्ड में चीफ कमिश्नर (अजमेर-मेरवाड़ा) के कार्यालय के ई.1871 से ई.1951 तक के अभिलेख सुरक्षित हैं। इस खण्ड में ई.1871 से 1926 तक के अभिलेख चीफ कमिश्नर ब्रांच के नाम से अभिहित किये गये हैं जबकि ई.1926 से 1951 तक के अभिलेख प्रशासनिक ब्रांच तथा निर्माण कार्य ब्रांच के रूप में अभिहित किये गये हैं।

    चीफ कमिश्नर ब्रांच: इस ब्रांच में प्रशासनिक नियुक्तियां, पदोन्नतियां, स्थानांतरण, राजस्व एवं वित्त सम्बन्धी स्वीकृतियां, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सम्बन्धी व्यवस्थायें, आबकारी, स्वायत्त शासन, नगर पालिका के प्रशासनिक कार्यों की देख-रेख, करों की वसूली, शिक्षण संस्थाओं सम्बन्धी आदेश, टाइटल्स-मेडल्स देने के आदेश, फॉरेन सर्विसेज आदि अभिलेख मिलते हैं।

    प्रशासनिक ब्रांच: इस ब्रांच में समस्त विभागों की नियुक्तियां, पदों का सृजन, पदोन्नतियां, स्थानांतरण, नीति विषयों की स्वीकृति, शिक्षा, जेल, चिकित्सा, ई.1935 को एक्ट, सेरीमोनियल्स, फैक्ट्री, फेमीन, आदि विभागों का अभिलेख है। इस शाखा की अवधि ई.1927 से 1951 तक की है।

    निर्माण कार्य ब्रांच: इस ब्रांच में झीलों, नालों, स्वायत्त संस्थायें, नव निर्माण, पुनर्निर्माण सम्बन्धी अभिलेख हैं। इसकी अविध ई.1927 से 1948 है। सामान्य शाखा के अधीन खाने, आर्म्स एण्ड एम्यूनेशन, मेले, टिड्डी, छात्रवृत्तियाँ, शिक्षा, विश्वविद्यालय, आकाशवाणी, औक्ट्राई आदि विषयों से सम्बन्धित अभिलेख हैं।

    सचिवालय अभिलेख

    इस खण्ड में प्रथम आम चुनाव ई.1952 से लेकर राजस्थान में विलय ई.1956 तक के अभिलेख संग्रहीत किये गये हैं। इस अवधि में अजमेर राज्य में सचिवालय प्रशासन अनुभाग, लेखा अनुभाग, विकास अनुभाग, शिक्षा अनुभाग, गृह सेवा एवं राजस्व अनुभाग, कानून एवं न्याय अनुभाग, श्रम एवं विकास अनुभाग, स्वायत्त शासन संस्थाएं अनुभाग, विधान सभा अनुभाग, चिकित्सा अनुभाग, सार्वजनिक निर्माण एवं आबकारी अनुभाग, आयोजना अनुभाग, पासपोर्ट अनुभाग, राजस्व अनुभाग तथा राहत एवं पुनर्वास अनुभाग के अभिलेख सम्मिलित हैं।

    हमारी नई वैबसाइट - भारत का इतिहास - www.bharatkaitihas.com


  • Share On Social Media:
Categories
SIGN IN
Or sign in with
×
Forgot Password
×
SIGN UP
Already a user ?
×