Blogs Home / Blogs / सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ
  • सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ-1

     03.01.2020
    सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ-1

    लेखकीय


    गुजरात के मुख्यमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी नर्मदा नदी में एक टापू पर सरदार पटेल की 182 मीटर ऊँची तथा भव्य मूर्ति लगाने जा रहे हैं जिसे स्टैच्यू ऑफ यूनिटी नाम दिया गया है। यह विश्व की सबसे ऊँची मूर्ति

    Read More
  • सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ-2

     03.01.2020
    सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ-2

    अनुक्रमणिका


    1. भगवान श्रीराम के वंशज थे सरदार पटेल

    2. मिठाई के लिये सबसे अंत में याद किये जाते थे वल्लभभाई और विट्ठलभाई

    3. जलती हुई सलाख से अपना शरीर दाग लिया वल्लभभाई ने

    4. हँसने का कोई अवसर हाथ

    Read More
  • सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ-3

     03.01.2020
    सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ-3

    भगवान श्रीराम के वंशज थे सरदार पटेल


    सरदार पटेल का जन्म 31 अक्टूबर 1875 को काठियावाड़ (गुजरात) के नाडियाद कस्बे में हुआ जहाँ उनकी ननिहाल थी। सरदार का पैतृक गांव करमसद, गुजरात के खेड़ा जिले की बोरसद तहसील में था ज

    Read More
  • सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ-4

     03.01.2020
    सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ-4

    मिठाई के लिये सबसे अंत में याद किये जाते थे वल्लभभाई और विट्ठलभाई


    झबेरभाई की पहली पत्नी की मृत्यु होने पर उनका दूसरा विवाह हुआ। दूसरी पत्नी लाड़बाई उनसे आयु में 18 वर्ष छोटी थी। झबेरभाई को पहली पत्नी से कोई

    Read More
  • सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ-5

     03.01.2020
    सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ-5

    जलती हुई सलाख से अपना शरीर दाग लिया वल्लभभाई ने


    विट्ठलभाई और वल्लभभाई को पढ़ाई के साथ-साथ खेत पर अपने पिता के काम में भी हाथ बंटवाना पड़ता था। वहीं से वल्लभभाई को मानसिक कार्य करने के साथ-साथ शारीरिक परिश्र

    Read More
  • सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ-6

     03.01.2020
    सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ-6

    हँसने का कोई अवसर हाथ से नहीं जाने देते थे वल्लभभाई


    वल्लभभाई को बचपन से ही हंसने और विनोद करने की आदत पड़ गई। यह एक आश्चर्य ही था कि उन्हें अपने समय का सबसे सख्त व्यक्ति माना जाता था किंतु यह सख्त मिजाज का व्

    Read More
  • सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ-7

     03.01.2020
    सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ-7

    किसी से भी विरोध हो जाने की चिंता नहीं करते थे वल्लभभाई


    वल्लभभाई की स्कूली शिक्षा अपने गांव की पाठशाला में हुई। स्कूल की शिक्षा से संतुष्ट नहीं होने के कारण पटेल अपने घर पर पुस्तकें लाकर

    Read More
  • सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ-8

     03.01.2020
    सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ-8

    दो दंगाई पाड़ों ने सबको भगा दिया


    मैट्रिक में विद्यार्थियों को अन्य विषयों के साथ संस्कृत अथवा गुजराती में से कोई एक भाषा एच्छिक विषय के रूप में चुननी होती थी। वल्लभभाई ने गुजराती भाषा चुन ली। गुजराती भाष

    Read More
  • सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ-9

     03.01.2020
    सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ-9

    वल्लभभाई इंग्लैण्ड जाकर देखना चाहते थे कि उस देश में ऐसी क्या विशेषता है ?


    अभी वल्लभभाई गांव की स्कूल में ही पढ़ रहे थे कि ई.1893 में 18 साल की आयु में उनका विवाह 13 साल की झबेरबा से हो गया। अल्पवय होने के कारण झबेर

    Read More
  • सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ-10

     03.01.2020
    सरदार पटेल के जीवन की एक सौ सत्रह कहानियाँ-10

    मुख्तारी की परीक्षा उत्तीर्ण करके स्वतंत्र वकील बन गये वल्लभभाई


    मैट्रिक उत्तीर्ण करने के बाद वल्लभभाई ने नाडियाद के एक वकील के सहायक के रूप में काम करना आरम्भ कर दिया। इस दौरान वल्लभभाई जब भी कोर्ट में

    Read More
Categories
SIGN IN
Or sign in with
 
×
Forgot Password
×
SIGN UP
Already a user ?
×