Blogs Home / Blogs / आलेख-राजस्थान
  • सेवाड़ी के शिलालेखों का महत्व

     31.05.2018
    सेवाड़ी के शिलालेखों का महत्व

    ई.1107 का शिलालेख

    राजस्थान के पाली जिले में सेवाड़ी नामक एक अत्यंत प्राचीन गांव स्थित है। बारहवीं शताब्दी ईस्वी में इस गांव को शमीपाटी कहा जाता था। इस गांव में स्थित महावीर स्वामी के मंदिर से बारहवीं शताब्दी ईस्वी के दो शिलालेख मिले हैं।

    Read More
  • चीन की दीवार की याद दिलाता है कुम्भलगढ़ का दुर्ग

     15.08.2018
    चीन की दीवार की याद दिलाता है कुम्भलगढ़ का दुर्ग

    मौर्य सम्राटों ने बनाया और गुहिलों ने संवारा कुम्भलगढ़ दुर्ग


    कुम्भलगढ़ दुर्ग उदयपुर से लगभग 90 किलोमीटर तथा नाथद्वारा से लगभग 40 किलोमीटर उत्तर में, समुद्र सतह से लगभग 1082 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है और नीचे की न

    Read More
  • क्या वह एकलिंगजी का मंदिर तोड़ना चाहता था ?

     03.09.2018
    क्या वह एकलिंगजी का मंदिर तोड़ना चाहता था ?

    क्या वह एकलिंगजी का मंदिर तोड़ना चाहता था ?


    मेवाड़ रियासत संसार की सबसे गौरवशाली और सदा स्वतंत्र रहने वाली रियासत थी किंतु इस रियासत को अठारहवीं सदी के अंत एवं उन्नीसवीं सदी के प्रारम्भ में नर्मदा पार से आए

    Read More
  • पश्चिमी राजस्थान में पत्रकारिताः आजादी के पहले और आजादी के बाद

     06.07.2019
    पश्चिमी राजस्थान में पत्रकारिताः आजादी के पहले और आजादी के बाद

    पश्चिमी राजस्थान में पत्रकारिताः आजादी के पहले और आजादी के बाद 

    भारत में पत्रकारिता का आरंभ 1780 ईस्वी में अंग्रेजी समाचार पत्र बंगाल गजट अथवा कलकत्ता एडवर्टाइजर के साथ होता है। इस समाचार पत्र का आरंभ अंग्रेजी विद्वान जेम्स हिक्की ने इ

    Read More
  • राजस्थान के स्वतंत्रता सेनानी

     07.07.2019
     राजस्थान के स्वतंत्रता सेनानी

     राजस्थान के स्वतंत्रता सेनानी


    राजस्थान के स्वतंत्रता संग्राम की कहानी ब्रिटिश भारत के स्वतंत्रता संग्राम से बहुत भिन्न है। जहाँ ब्रिटिश भारत को केवल अंग्रेजी शासकों से संघर्ष करना पड़ा, वहीं राजस्थ

    Read More
Categories
SIGN IN
Or sign in with
 
×
Forgot Password
×
SIGN UP
Already a user ?
×