Blogs Home / Blogs / पाकिस्तान का संक्षिप्त इतिहास / पाकिस्तान का संक्षिप्त इतिहास . 4
  • पाकिस्तान का संक्षिप्त इतिहास . 4

     03.06.2020
    पाकिस्तान का संक्षिप्त इतिहास . 4

    1930 में विभाजित भारत का पहला नक्शा बना

    हमारी नई वैबसाइट - भारत का इतिहास - www.bharatkaitihas.com

         ई.1930 में इलाहाबाद में मुस्लिम लीग का वार्षिक सम्मेलन आयोजित हुआ। सम्मेलन के अध्यक्षीय भाषण में डा. इकबाल ने मुसलमानों की अलग राजनीतिक पहचान के आधार पर भारत में एक अलग मुस्लिम राष्ट्र या फेडरेशन की स्थापना की वकालात की। इकबाल का दादा कश्मीरी ब्राह्मण था। सदियों से उसके पुरखे भारत भूमि पर शांति के साथ रहते आये थे किंतु इकबाल को भारत में रहना स्वीकार्य नहीं हुआ। उसने कहा कि मैं पंजाब, उत्तर-पश्चिमी प्रांत, सिंध और बलूचिस्तान को एक अलग राष्ट्र में एकीकृत होते हुए देखना चाहता हूँ। यह विभाजित भारत का पहला नक्शा था। उस समय तक पाकिस्तान शब्द का आविष्कार नहीं हुआ था। इसलिये इसे मुस्लिम भारत कहा गया।


         इसी राजनैतिक शायर डॉ.इकबाल ने "सारे जहाँ से अच्छा हिंदुस्तान हमारा" गीत लिखा। बंटवारे के समय इकबाल ने भारत का राष्ट्रकवि बनने का दावा पेश किया जिसे कांग्रेस ने उसकी हरकतों को देखते हुए ठुकरा दिया। इसके बाद इकबाल पाकिस्तान चला गया जहां उसने "सारे जहाँ से अच्छा पाकिस्तान हमारा" लिखा। इकबाल के छद्म राष्ट्रप्रेम को स्पष्ट करने के लिये इससे अधिक कुछ बताने की आवश्यकता नहीं है। दुर्भाग्य से आज भारत में इसी इकबाल का लिखा हुआ गीत राष्ट्रगीत की तरह गाया जाता है जबकि पाकिस्तान में कोई इकबाल को पूछता तक नहीं।

    ई.1931 में सिंध को मुस्लिम बहुल प्रांत बनाने की मांग उठी

         मुस्लिम लीग के ई.1930 के इलाहाबाद सम्मेलन के तुरंत बाद ई.1931 में लंदन में प्रथम गोलमेज सम्मेलन आयोजित किया गया जिसमें मुस्लिम लीग के प्रतिनिधियों ने भारतीय विधान सभाओं में मुस्लिम समुदाय के लिये जनसंख्या के अनुपात से सीटों के आरक्षण की मांग की। उन्होंने यह मांग भी की कि सिंध को नये मुस्लिम बहुल प्रांत का दर्जा दिया जाये।

    1933 में पाकिस्तान शब्द का आविष्कार हुआ

         ई.1933 में रहमत अली नामक एक विद्यार्थी ने एक प्रस्ताव तैयार किया जिसमें कहा गया कि भारतीय मुसलमानों को अपना राज्य हिन्दुओं से अलग कर लेना चाहिये। रहमत अली ब्रिटेन में रहकर स्नातक स्तर का अध्ययन कर रहा था और उस समय उसकी आयु 40 वर्ष थी। उसने अपने प्रस्ताव में कहा कि भारत को अखण्ड रखने की बात अत्यंत हास्यास्पद और फूहड़ है। भारत के जिन उत्तर पश्चिमी क्षेत्रों- पंजाब, कश्मीर, सिंध, सीमांत प्रदेश तथा ब्लूचिस्तान में मुसलमानों की संख्या अधिक है, उन्हें अलग करके पाकिस्तान नामक देश बनाया जाना चाहिये।

    हमारी नई वैबसाइट - भारत का इतिहास - www.bharatkaitihas.com

  • "/> "> ">
    Share On Social Media:
Categories
SIGN IN
Or sign in with
×
Forgot Password
×
SIGN UP
Already a user ?
×