Rajasthan History | History of India in Hindi Rajasthan History | History of India in Hindi
Recent E-Books
Recent Blogs
EBook Categories
303
Videos
हिन्दू धर्म कथाएं - 7 : किसी प्राचीन हिमयुग की समाप्ति से जुड़ी है नील वाराह की अवतार कथा!
Tears of Red Fort-7 : Red Fort- Dara Shikoh and the Ramnami
लालकिले की दर्दभरी दास्तां - 167 : अंग्रेजों ने अवध के नवाब वाजिद अली शाह को पकड़कर कलकत्ता भेज दिया!
हिन्दू धर्म की कथाएं - 6 : सृष्टि को पुनः वैभव प्रदान करने से जुड़ी है मोहिनी अवतार की कथा!
Tears of Red Fort-6 : Killing Spree Between Brothers
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 166 : अंग्रेजों ने अवध को बलपूर्वक हड़पने का निर्णय लिया!
Tears of Red Fort-5 : Red Fort - Princesses and their prevailing rumours
हिन्दू धर्म की कथाएं - 5 : मानव सृष्टि को वैभव प्रदान करने से जुड़ी है कूर्मावतार की कथा!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 165 : लाल किले की सत्ता के नाम पर भारतीयों को फांसी देते थे अंग्रेज!
Tears of Red Fort-4 : Red Fort - When princes faced exile
हिन्दू धर्म की कथाएं - 4 : महा-जल-प्लावन एवं जीवों के क्रमिक विकास से जुड़ी है मत्स्यावतार की कथा!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 164 : लाल किले का असंतोष अंग्रेजों की तरफ चिन्गारी बनकर बढ़ने लगा!
Tears of Red Fort-3 : Red Fort - Illuminated by the children of Mumtaz Mahal!
हिन्दू धर्म की कथाएं-3 : जल-प्लावन से जुड़ी हैं भगवान के मत्स्यावतार, कूर्मअवतार वराह अवतार की कथाए
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 163 : लॉर्ड डलहौजी ने मुगल बादशाह से किला खाली करने को कहा!
Tears of Red Fort-2 : Red Fort Descended With Wings of Dreams
हिन्दू धर्म की कथाएं - 2 : पृथ्वी की उत्पत्ति से जुड़ी है मधु-कैटभ के वध की कथा!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 162 : बादशाह की पेंशन बढ़वाने के लिए राजा राममोहन राय लंदन गए!
Tears of Red Fort-1 : Babur and Humayun - From Rags to Riches
हिन्दू धर्म की कथाएं - 1 : हिन्दू धर्म-साहित्य का अद्भुत कथा-संसार
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-161 : ईस्ट इण्डिया कम्पनी ने मुगल बादशाह का टाइटल छीन लिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 160 : महादजी सिंधिया ने शाहआलम को फिर से बादशाह बना दिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-159 : मलिका उज्मानी ने बादशाह की आंखें फोड़ने के लिए 12 लाख रुपए दिए!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 158 : बेगम समरू ने बादशाह शाहआलम की रक्षा की!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 157 : सिक्खों ने लाल किले पर अधिकार कर लिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 156 : वजीर ने छः साल तक बादशाह को लाल किले में नहीं घुसने दिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 155 : अंग्रेजों ने शाहआलम को पेंशन देकर बादशाहत छीन ली!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 154 : लाल किले की सत्ता ने महाराजा सूरजमल की हत्या कर दी!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 153 : महाराजा सूरजमल ने मुगलों की दो राजधानियां छीन लीं!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां -152 : जाटों की राजमाता ने कहा मराठा सैनिक मेरे बच्चे हैं इन्हें मत मारो!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 151 : अहमदशाह अब्दाली ने हजारों मराठों को पकड़ लिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-150 : अहमदशाह अब्दाली ने एक लाख मराठों को मार डाला!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 149 : मराठों ने लाल किले से चांदी उतार कर सिक्के ढलवा लिए!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-148 : भारत के घावों से रक्त निकालने फिर आ गया अहमदशाह अब्दाली!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-147 : लालकिले से अफगान झण्डा नहीं हटाने पर वजीर ने बादशाह की हत्या कर दी!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-146 : फ्रांसीसियों ने लालकिले को यूरोप के सप्तवर्षीय युद्ध में घसीट लिय
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-145 : लाल किले के साथ-साथ भारत माता भी आंसू बहा रही थी!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-144 : रघुनाथ राव ने लाल किले पर तोपों से गोले बरसाए!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-143 : अब्दाली के निकलते ही मराठों ने लाल किले को घेर लिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-142 : लाल किले में शाही महिलाओं का शील हरण किया गया!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-141 : महाराजा सूरजमल ने अब्दाली को भरतपुर पर हमला करने की चुनौती दी।
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-140 : अहमदशाह अब्दाली ने ब्रज के लोगों के सिर काटकर मीनारें बनवाईं।
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-139 : लाल किले ने अपनी दो शहजादियां अहमदशाह अब्दाली को सौंप दीं!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-138 : चालीस साल जेल में रहने के बाद आलमगीर बादशाह बन गया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-137 : आठ हजार औरतें थीं अहमदशाह बहादुर के हरम में!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-136 : वजीर ने बादशाह और उसकी माँ को अंधा करके जेल में डाल दिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-135 :हिंजड़ों के मुखिया को लेकर बादशाह एवं वजीर में ठन गई!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-134 : समलैंगिकता की प्रवत्ति से ग्रस्त था शाही हरम!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-133 : मुगलिया हरम पर शासन करते थे ख्वाजासरा!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 132 : ऊधम बाई का बेटा मुगलों के तख्त पर बैठ गया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-131: बादशाह का प्यारा दोस्त चिनकुलीच खाँ सतलज के किनारे मारा गया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 130 : लाल किले में अपनी फूफियों से मिलने आया था नादिरशाह!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-129 : लालकिले से ईरान अफगानिस्तान पंजाब होते हुए लंदन पहुंच गया कोहिनूर
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-128 : नादिरशाह लालकिले से कोहिनूर के साथ दुर्भाग्य भी बांध कर ले गया!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-127 : बादशाह की चहेती वेश्या ने नादिरशाह को कोहिनूर का पता बता दिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 126 : लाल किले में मानव इतिहास की सबसे बड़ी सशस्त्र डकैती हुई!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-125 : कोई नहीं बचा जिसे तू अपनी तलवार से क़त्ल करे।
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-124 : शायरी और गायकी में कट रही थी जिंदगी आ गया नादिरशाह कोहिनूर के लिए
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-123 : पेशवा बाजीराव ने लाल किले की चूलें हिला दीं!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-122 : लाल किले ने मराठों को डराने का प्रयास किया किंतु नाक तुड़वा बैठा!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-121 : बादशाह जुल्फों की छांव में बैठा था, मराठे तेजी से बढ़े चले आ रहे थे!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-120: बादशाह रंगरेलियां मनाता रहा और अवध तथा बंगाल स्वतंत्र हो गए!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 119: लाल किला घमण्ड से बोला देखो दक्षिण का गधा कितना सुंदर नाचता है!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-118: मल्लिका उज्जमानी महाराजा अजीतसिंह की दुश्मन हो गई!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-117 : महाराजा अजीतसिंह ने अजमेर में हिन्दू राज्य की स्थापना कर दी!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-116: सवाई जयसिंह ने अपने हाथों से बदनसिंह जाट का राजतिलक किया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 115 : स्वयं ही अपने नंगे चित्र बनाता था बादशाह!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-114 : रंगीले बादशाह ने प्रधानमंत्री एवं प्रधान सेनापति की हत्या करवा दी!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-113 : रंगीले बादशाह की माँ ने चिनकुलीच खां को गुप्त पत्र लिखा!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-112 : सैयद बन्धुओं ने मुगल बादशाहों को कीड़े-मकोड़ों की तरह मारा!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-111: बादशाह को लाल किले में जूतियों से पीटकर गला घोंट दिया गया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-110 : लाल किले को सवाई जयसिंह के रूप में वफादार रक्षक मिल गया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-109 : चूड़ामन ने लाल किले की चाबियों पर अधिकार कर लिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-108 : फर्रूखसीयर ने बंदा बैरागी तथा उसके साथियों के टुकड़े करवा दिए!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-107 : महाराजा अजीतसिंह की हत्या के लिए बादशाह उसके डेरे पर पहुंच गया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-106 : बादशाह बनते ही फर्रूखसीयर भयानक षड़यंत्रों में घिर गया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-105 : ईरानी वजीरों ने जहांदारशाह से गद्दारी करके उसे मरवा दिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-104 : जहाँदारशाह ने लाल किले को नृत्यांगनाओं का अड्डा बना दिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 103 : बादशाह का शव ढाई माह तक नहीं दफनाया जा सका!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 102 : लाल किले ने चूड़ामन जाट के सामने घुटने टेक दिए!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-101 : लाल किले को बंदा सिंह बैरागी के रूप में नया दुश्मन मिल गया!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-100: कच्छवाहों, राठौड़ों, सिसोदियों ने लाल किले के विरुद्ध संघ बना लिया!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-99 : बहादुरशाह ने अपने हाथों से कामबक्श के घावों पर मरहम लगाया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-98 : शाहे बेखबर का दरबार शिया और सुन्नी में बंट गया!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-97 : महाराजा अजीतसिंह ने जोधपुर दुर्ग को गंगाजल से धुलवाया!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-96 : औरंगजेब के चहेते बेटों को मारकर शाहआलम भारत का बादशाह बन गया!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-95 : मकान में मेरा हिस्सा फर्श से छत तक है!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-94 : चगताई शहजादों का रक्त बहाने का अभ्यस्त था बाबर का वंश!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-93 : औरंगजेब की मृत्यु पर रोने वाला कोई नहीं था!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-92 : भारत के लोगों का खून चूस रहा था लाल किला!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-91 : पच्चीस साल तक दक्षिण भारत में हाहाकार मचाता रहा औरंगजेब!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-90 : वीर दुर्गादास ने औरंगजेब के पौत्र एवं पौत्री औरंगजेब को लौटा दिए!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-89: औरंगजेब ने गुरु गोविन्दसिंह के पुत्रों को दीवार में चिनवा दिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 88 : शंभाजी ने औरंगजेब के मुंह पर थूक दिया!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-87 : वीर राजाराम जाट ने शहंशाह अकबर की हड्डियाँ आग में डाल दीं!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-86 : औरंगजेब ने शहजादे के बाल एवं नाखून काटने पर रोक लगा दी!
लालकिले की दर् भरी दास्तां-85 : औरंगजेब की पुत्रवधू जहांजेब ने अनिरुद्धसिंह को बेटा बनाया!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-84 : जेल में ही तिल-तिल कर मर गई शहजादी जेबुन्निसा!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-83 : औरंगजेब ने बेटी जेबुन्निसा को बंदी बना लिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-82 : औरंगजेब ने झूठा पत्र लिख कर वीर दुर्गादास तक पहुंचा दिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-81 : औरंगजेब का चौथा बेटा बागी हो गया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-80: महाराणा राजसिंह मुगलों का सोना ऊंटों पर लादकर उदयपुर ले आया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-79 : राठौड़ों और सिसोदियों ने औरंगजेब को पहाड़ों में खींच लिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-78 : लाल किला राठौड़ों के राजकुमार को नहीं ढूंढ सका!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-77: पूरा देश लाल किले के विरोध में उठ खड़ा हुआ!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-76 : लाल किले ने भारत में फिर से जजिया लगा दिया!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-75 : औरंगजेब ने महाराजा जसवंतसिंह की रानियों को कैद कर लिया!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-74 : यूसुफजइयों ने बीस हजार स्त्री-पुरुष मध्य-एशिया में बेच दिए!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-73 : शहजादा मुहम्मद सुल्तान सलीमगढ़ की जेल में मर गया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-72 : लाल किले को धता बताकर नेताजी पाल्कर फिर से हिन्दू बन गया!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-71 : लाल किले की सत्ता ने गुरु अर्जुन देव और तेग बहादुर की हत्या कर दी!
लाल किले की दर्दभरी दास्तां-70: सतनामियों से घबराकर औरंगजेब ने तोपों पर ताबीज बंधवाए!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-69 : औरंगजेब नहीं चाहता था कि पुर्तगाली पुरुष भारतीय औरतों से विवाह करे
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-68 : लालकिले ने बड़ी हैरानी से छत्रपति का राज्याभिषेक होते हुए देखा!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-67 : छत्रपति ने छत्रसाल को लाल किले का दुश्मन बना दिया!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-66 : छत्रपति ने दूसरी बार सूरत लूटकर औरंगजेब को युद्ध की खुली चुनौती दी!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-65 : औरंगजेब ने आगरा के लाल किले में वीर गोकुला जाट के टुकड़े करवाए!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-64: औरंगजेब ने मिर्जाराजा जयसिंह को जहर देकर मरवा दिया!
लालकिले की दर्दभरी दास्तां-63 : औरंगजेब ने राजाओं को ईरान ले जाकर सुन्नत करने का षड़यन्त्र रचा!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-62 : ब्राह्मण दम्पत्ति ने संभाजी को अपनी थाली में भोजन खिलाया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 61: लाल किले की दीवारें छत्रपति शिवाजी को नहीं रोक पाईं!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 60 : अमरसिंह राठौड़ की गर्जना से कांप उठी थीं लाल किले की दीवारें!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-59: छत्रपति शिवाजी की गर्जना से लाल किले की दीवारें कांप उठीं!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 58: छत्रपति शिवाजी हाथी पर गेरुआ झण्डा रखकर लाल किले के लिए चल पड़े!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 57 : छत्रपति शिवाजी ने जहानआरा का बंदरगाह लूट लिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-56 : महाराणा राजसिंह ने चारुमती से विवाह करके औरंगजेब की किरकिरी की!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 55 : महाराजा जसवंतसिंह ने शिवाजी को बच निकलने का मौका दिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 54 शिवाजी ने औरंगजेब के मामा की अंगुली काट ली!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 53 शिवाजी ने औरंगजेब की सेना को पहाड़ों में कैद कर लिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 52 मंदिर तोड़ने वाले बेलदार को औरंगजेब ने गुसलखाने का दरोगा बना दिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 51 ब्रज को उजाड़ने के बाद औरंगजेब ने राजपूताने पर दांत गड़ा दिए!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 50 लाल किले के कहर से ब्रज उजड़ गया किंतु राजपूताना बस गया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 49 औरंगजेब ने उज्जैन, अयोध्या और जगन्नाथपुरी के मंदिर तोड़ दिए!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 48 दिल्ली का लाल किला हथौड़े बरसाने लगा!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 47 औरंगजेब ने सिक्कों पर कलमा लिखने पर रोक लगा दी!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 46 हिन्दुओं के डर से औरंगजेब ने लाल किले में मस्जिद बनवाई!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 45 औरंगजेब ने अपनी बेगम के मकबरे के लिए धन नहीं दिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 44 अब लाल किलों से भवन निर्माण के आदेश जारी नहीं होते थे!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 43 औरंगजेब ने लाल किलों से रंगीनियों को मार भगाया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 42 लाल किले में शहजादियों के विवाह की शहनाइयाँ फिर से बजने लगीं!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां -41 औरंगजेब ने रौशनआरा को धीमा जहर देकर मरवाया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 40 औरंगजेब ने जहानआरा को फिर से शाह-बेगम बना दिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 39 आखिर एक शाम को शाहजहाँ मर गया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 38 शाहजहां और औरंगजेब में हीरे-मोतियों को लेकर झगड़ा हुआ!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 37 शहजादी रौशनआरा ने बड़ी बहिन जहानआरा को परास्त कर दिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 36 मुगलिया सल्तनत की सबसे अमीर औरत थी जहानआरा!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 35 आग की लपटों में घिर गई शहजादी जहानआरा!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 34 जहानआरा के अहसानों को भुला नहीं सकता था औरंगजेब!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 33 औरंगजेब ने शहजादे सुलेमान शिकोह को अफीम पिलाकर मरवा दिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 32 शहजादी रौशनआरा ने अपने भाई दारा के लिए प्राणदण्ड की मांग की!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 31 विश्वासघाती अमीर ने दारा को औरंगजेब के हाथों बेच दिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 30 दुर्भाग्य से हिन्दू राजाओं ने दारा के सम्बन्ध में गलत निर्णय लिए!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 29 जम्मू का राजा रामरूप राय औरंगजेब के लिए बलिदान हो गया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 28 तोपों के गोलों की चिंगारियां बिजली की तरह चमकती थीं!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 27 महाराजा जसवंतसिंह ने दारा शिकोह का साथ देने से मना कर दिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 26 शाहशुजा को जंगली लोगों ने पकड़कर मार दिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 25 महाराजा जसवंतसिंह ने औरंगजेब की हत्या की साजिश रची!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 24 दिल्ली और आगरा के लाल किले मुराद की आँखों से दूर हो गए!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 23 औरंगजेब ने सल्तनत के विभाजन का प्रस्ताव ठुकरा दिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 22 औरंगजेब ने लाल किले के मालिक को कैद कर लिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 21 महाराजा की मृत्यु का समाचार सुनकर जहाँआरा ने काले कपड़े पहन लिए!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 20 महाराजा रूपसिंह की तलवार औरंगजेब की गर्दन तक पहुँच ही गई!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 19 औरंगजेब को महाराजा रूपसिंह का भय सता रहा था!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 18 दारा को चकमा देकर औरंगजेब आगरा के दरवाजे तक आ पहुँचा!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 17 महाराजा जसवंतसिंह की सम्पूर्ण सेना नष्ट हो गई!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 16 कासिम खाँ की नमक हरामी!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 15 बूढ़ा शाहजहाँ दारा शिकोह और जहाँआरा से भी डर गया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 14 मुराद ने स्वयं को बादशाह घोषित कर दिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां 13 - शाहशुजा ने स्वयं को बादशाह घोषित करके आगरा की तरफ कूच कर दिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 12 - राठौड़ राजाओं को बिल्कुल पसंद नहीं था औरंगजेब!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 11 औरंगजेब से सर्वाधिक भयभीत रहता था दारा शिकोह!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 10 तीनों छोटे शहजादों का सम्मिलित शत्रु था दारा शिकोह!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 9 बादशाह दिल्ली छोड़कर आगरा चला गया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 8 शाहजहाँ के बीमार होते ही महाराणा ने माण्डलगढ़ छीन लिया!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां - 7 शहजादों की नसों में चंगेजी और तूमैरी खून जोर मारने लगा!
लाल किले की दर्द भरी दास्तां 6 - मुगल शहजादियों से भरे रहते थे मुगल बादशाहों के हरम!
लाल किले की दर्दभरी दास्तां की नई कड़ियाँ प्रत्येक सोमवार एवं शुक्रवार को रात 8.00 बजे
महाराणा भीमसिंह ने सोने का छल्ला चुराने वाले को धन दिया!
क्यों हो रही है, इमरान की इतनी जल्दी विदाई!
क्या दुल्हन की विदाई का वक्त आ गया है!
जब रोम पर मुसीबत आती थी तो इस किले की देवी की तलवार से खून टपकता था!
इटली में भारत की अपेक्षा सोना सस्ता क्यों है और टमाटर महंगा क्यों!
जब मरते हुए ग्लेडिएटर चीत्कार करते थे तो रोमन राजकुमारियां ताली बजाती थीं!
जोधपुर के वीर राजाओं की कहानियां कहते हैं मण्डोर के देवल!
क्या मुहम्मद बिन तुगलक पागल था! (PART - 16, Last Episode)
बहमनी साम्राज्य की स्थापना हो गई किंतु मुहम्मद बिन तुगलक कुछ नहीं कर सका! (PART - 15)
चित्तौड़ के स्वतंत्र राज्य की पुनर्स्थापना हो गई और मुहम्मद बिन तुगलक कुछ नहीं कर सका! (PART - 14)
विजय नगर साम्राज्य की स्थापना हो गई और मुहम्मद बिन तुगलक कुछ नहीं कर सका! (PART - 13)
मुहम्मद बिन तुगलक ने अपने चचेरे भाई के टुकड़े करके चावल में पकवाए! (PART - 12)
मुहम्मद बिन तुगलक ने ईरान, तिब्बत तथा चीन को जीतने के सपने देखे! (PART - 11)
कटोच राजपूतों ने मुहम्मद बिन तुगलक को पहाड़ी तलवार का स्वाद चखाया! (PART - (10)
मुहम्मद बिन तुगलक ने मंगोलों से लड़ने की बजाय उन्हें सोने-चांदी के रुपए दिए। (PART-9)
मुहम्मद बिन तुगलक ने सोने-चांदी के सिक्कों की जगह ताम्बे के सिक्के ढलवाए! (PART - 8)
सुल्तान दिल्ली के कुत्ते-बिल्लियों और भिखारियों को पकड़कर दौलताबाद ले गया! (PART 7)
सुल्तान द्वारा की गई कर-वृद्धि से गंगा-यमुना क्षेत्र के किसान जंगलों में भाग गए! (PART - 6)
किसानों की आय बढ़ाने का सपना देखने वाला पहला मुस्लिम शासक था वह ! (PART - 5)
मुहम्मद बिन तुगलक ने दिल्ली की सड़कों पर सोने की अशर्फियां लुटा दीं! (PART - 4)
शहजादे जूना खाँ ने अपने पिता सुल्तान गयासुद्दीन की हत्या कर दी! (PART -3)
सुल्तान गयासुद्दीन तुगलक ने महल के तालाब में पिघला हुआ सोना भर दिया! (PART-2)
उसने उलेमाओं और काजियों पर कोड़े बरसाए! (PART-1)
अद्भुत है मण्डोर उद्यान की देवताओं की साल
जिन्ना को जेल गए बिना ही कैसे मिल गया पाकिस्तान ?
महाराजा अजीतसिंह के समय बना था मण्डोर का काला गोरा भैंरू मंदिर
क्या इतिहासकारों ने महाराणा उदयसिंह का गलत मूल्यांकन किया है?
महाराजा अजीतसिंह की रानियों का एक-थम्बा महल
चित्तौड़ दुर्ग को जीतने के बाद अकबर ने क्या किया ?
रोमांचक अनुभव है रोम और फ्लोरेंस की मैट्रो रेल में यात्रा
किस गद्दार ने जलाया था चित्तौड़ का किला!
अकबर ने चित्तौड़ दुर्ग की दीवारों को बारूद से उड़ा दिया!
महाराणा प्रताप कभी चित्तौड़ के किले में क्यों नहीं गए!
बारह शताब्दियों में तीन बार अफगानी और खुरासानी चित्तौड़ दुर्ग में घुसे
संकरी गलियों का शहर वेनिस
नहरों एवं पुलियों का शहर वेनेजिया
बाली द्वीप का अद्भुत पर्व है गलुंगन
वरुण देव को समर्पित फाउण्टेन ऑफ नेप्च्यून, फ्लोरेंस
रोम का त्रि-वाय फव्वारा (फोन्टाना डी ट्राइ-वेई)
इटली की गलियों में नाचती हैं स्वप्न सुंदरियां
जुबैदा जिसने राजस्थान की राजनीति बदल दी
कैसे बढ़े भारतीय किसानों की आय ?
मुस्लिम औरतों में बुर्के की शुरुआत कब हुई!
अप्सराओं का मनुष्यों के साथ पत्नी के रूप में रहने का रहस्य!
आत्मा शरीर में कहाँ निवास करता है ?
सफल क्रांति के असफल नायक!
यूट्यूब वीडियो पर कैसे कमेण्ट्स करने से बदल सकता है हमारा भाग्य
क्या मृत्यु के समय मनुष्य को कष्ट होता है?
पराली आफत नहीं, लक्ष्मीजी का वरदान है!
कैसे जोड़ें अपनी आयु में 15 साल!
हम जोड़ सकते हैं अपनी आयु में कई साल, कैसे !
तंत्र साधना के तीन बड़े रहस्य- 6
तंत्र साधना के तीन बड़े रहस्य- 5
तंत्र साधना के तीन बड़े रहस्य- 4
समझदार स्त्री-पुरुष कृपया एक-दूसरे पर न थूकें!
तंत्र साधना के तीन बड़े रहस्य, भाग-3
चौदह माह की बच्ची से बलात्कार और हमाम में नंगे खड़े राजनीतिक दल
तंत्र साधना के तीन बड़े रहस्य, भाग-2
तंत्र साधना की सफलता के बड़े रहस्य, भाग-1
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-5, मुमताज महल की औलादें लाल किले के लिए एक दूसरे का कत्ल करने को झपटीं
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-4, रामनामी ओढ़कर लाल किले में घूमा करता था दारा शिकोह
लाल किले की दर्द भरी दास्तां-3, भाइयों को मारकर तख्त लेते थे मुगल शहजादे
लाल किले की दर्दभरी दास्तान-2, मुगल शहजादियां लाल किले की दीवारों से अफवाहें फैलाने लगीं
लाल किले की दर्दभरी दास्तान -1 , परिवार का कोई सदस्य प्रेम नहीं करता था लाल किले के निर्माता से
कुम्भलगढ़ दुर्ग में हुई थी महाराणा कुम्भा की हत्या
साधना से भ्रष्ट साथी की हत्या कर देते थे ऊंदरिया पंथ के साधक
मनो-दैहिक स्तर पर परमानंद का विस्फोट ही चोली पूजन पंथ की साधना का मुख्य आधार है
अघोरियों तथा भैरवी साधकों से ली गई है कांचलिया पंथ की तंत्र साधना
नारी देह ही कूण्डापंथियों की रहस्यमयी साधना का प्रमुख साधन है!
भगवान श्रीराम की दृष्टि में संत कौन है ?
कुछ ढोंगी बाबा जनता को चमगादड़ का काजल बेचकर मूर्ख बनाते हैं!
क्या अंतर है कथावाचक, उपदेशक, गुरु, भक्त और संत में!
परकाया प्रवेश की वैज्ञानिकता और उसके पौराणिक संदर्भ
क्या भगवान शंकराचार्य ने परकाया प्रवेश किया था? क्या यह संभव है?
भारत पर शासन करने के लिए अजमेर पर अधिकार रखना जरूरी था !
भारत के बड़े राजाओं ने पृथ्वीराज चैहान को घेरकर मरवाया?
महाराजा अजीतसिंह की हत्या के लिए भारत की बड़ी ताकतें एक हो गईं
महाराजा अजीतसिंह की अजमेर विजय के शंख ईरान तक सुनाई दिए
महाराजा अजीतसिंह ने मुगल बादशाह को लाल किले से घसीटकर मार डाला
क्या वीर दुर्गादास राठौड़ को देश-निकाला हुआ था ?
महाराजा ने लेडी वायसराय के कुत्ते को अपने डेरे में नहीं घुसने दिया
जोधपुर की रूठी रानी शेरशाह सूरी का रास्ता रोककर बैठ गई
जोधपुर की रानियों ने मर्दाना कपड़े पहनकर मुगलों के सिर काट लिए
जोधपुर की एक महारानी जो कभी दुर्ग से बाहर नहीं निकली
क्या आप सुनहरी मछलियां देखने मसरूर गए हैं ?
श्रीमद् भगवद्गीता कब लिखी गई ?
क्या समलैंगिक अब अपने लिए अलग लिंग की मांग करेंगे ?
सूखी सब्जियों का खजाना है थार का रेगिस्तान
थार रेगिस्तान के विशिष्ट व्यंजन !
बी-लॉग, वी-लॉग एवं मोटो-व्लॉग से कमा रहे हैं लोग करोड़ों रुपए
भगवद्गीता किसने लिखी ?
किस मुस्लिम शासक ने तोड़ा था राम मंदिर ?
रेगिस्तान में मिलते हैं काले-गोरे और तीन पैरों वाले भैंरूजी
क्या है भैरवी साधना का रहस्य ?
भैरव देवता हैं या राक्षस ?
क्या दो रेडियो संदेशों ने गांधीजी को भारत का राष्ट्रपिता बनाया ?
इतिहास की अनुसुलझी पहेली मिस्र की रानी क्लियोपैट्रा
क्या वह एकलिंगजी का मंदिर तोड़ना चाहता था ?
सास-बहू का मंदिर नागदा उदयपुर राजस्थान
इतिहास के क्रूरतम आक्रमणों का गवाह नगरकोट मंदिर
लोग यहाँ बवासीर का इलाज करवाने आते हैं!
रेडीमेड बच्चे बनाने की फैक्ट्रियां
नोटा बनाम नेता
भूतों एवं चुड़ैलों का संग्रहालय इण्डोनेशिया
साहित्य का सामर्थ्य पर डॉ. नरेन्द्र मिश्र का व्याख्यान
हिरदै में विराजो माई दुर्गा
ध्यानू भगत
जबलपुर क्षेत्र का आदिवासी नृत्य
रामरस पीने वाले आम्रवृक्ष
चूहों वाली देवी करणी माता
Should Congress leave the Gandhis !
Decoration at Ganga in Rishikesh
ऋषिकेश में गंगा आरती
ऋषिकेश में गंगापूजन
मानव सेवा सम्मान समारोह, एम्स जोधपुर
शंखलिपि - भारत की एक रहस्यमय लिपि
ढोल नृत्य
गैर लोकनृत्य
क्या कांग्रेस ने दलित आंदोलन भड़काया !
गींदड़ लोकनृत्य
कच्छी घोड़ी लोक नृत्य
लांगुरिया लोकगीत एवं लोकनृत्य
तेरह ताली नृत्य
जबलपुर क्षेत्र के वनवासियों द्वारा नर्मदा नदी की नृत्य एवं संगीतमयी स्तुति
संस्कृत काव्य में राष्ट्रीय चेतना के स्वर - शोधपत्र
नमामि देवी नर्मदे! आदि जगद्गुरु शंकराचार्य द्वारा लिखित नर्मदा नदी की संगीतमय स्तुति
SEE ALL VIDEOS
Testimonials
SIGN IN
Or sign in with
 
×
Forgot Password
×
SIGN UP
Already a user ?
×